महिलाओं को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri matritva vandana yojana) की शुरूआत की है। - The Rural India

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri matritva vandana yojana)

 Pradhan mantri matritva vandana yojana: एक आंकड़े के अनुसार भारत में हर तीसरी महिला अल्प पोषित हैं। यदि बात गर्भावस्था की हो तो यह स्थिति और भी दयनीय हो जाती है। गरीब परिवार की महिलाएं आर्थिक और सामाजिक तंगी के कारण अपनी गर्भावस्था के आखिरी दिनों तक अपने परिवार के लिए काम करती रहती हैं, जबकि उनका शरीर इसके लिए तैयार नहीं होता है। ऐसे में केंद्र सरकार नें इन महिलाओं को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri matritva vandana yojana 2022) की शुरूआत की है।

यह योजना में महिलाओं 5 हजार रूपये की धनराशि दी जाती है। जिससे वे अपने और बच्चे की पोषण जरूरतों को पूरा कर सकें।

तो आइए, द रुरल इंडिया के इस लेख में जानें- गर्भवती महिलाएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri matritva vandana yojana 2022) का लाभ कैसे लें?

इस लेख में आप जानेंगे

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना क्या है

  • मातृ वंदना योजना का उद्देश्य

  • योजना के लाभ कैसे मिलेगा

  • योजना का लाभ

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की पात्रता

  • आवेदन की प्रक्रिया

 प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY)

इस योजना की शुरूआत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के अंतर्गत देश के सभी जिलों में 1 जनवरी, 2017 से की गई है। इस योजना में उन सभी महिलाओं को शामिल किया गया है जो वर्तमान में गर्भवती है। इस योजना में महिलाओं को कुल 5 हजार रूपए नगद उनके बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है। इसके अलावा जननी सुरक्षा योजना के तहत भी उन्हें 1 हजार रूपए अतिरिक्त सहायता राशि दी जाती है।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना (PMMVY) का उद्देश्य

  • गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना

  • गर्भवती महिलाओं को अच्छा स्वास्थ्य और पोषण सुनिश्चित करना

  • महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना

  • बच्चे के जन्म के पहले और बाद में पर्याप्त विश्राम कराना

  • शिशु मृत्यु दर और बच्चों में कुपोषण कम करना

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY) का लाभ

इस योजना में पंजीकृत महिलाओं को तीन किस्तों में कुल 6 हजार रूपए दिए जाते हैं।

  1. पहली किस्त पंजीकरण के बाद 1000 रूपये

  2. दूसरी किस्त गर्भधारण के 6 महिने अंदर 2000 रूपये

  3. तीसरी किस्त प्रसव के बाद 2000 रूपये

इसके अलावा 1000 रूपये की धनराशि जननी सुरक्षा योजना के तहत प्रसव के समय दिया जाता है। इस तरह पहली गर्भधारण के समय महिलाओं को कुल 6 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है। 

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri matritva vandana yojana)

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY) का लाभ कैसे लें

इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले महिला को गर्भ का पता चलते ही उन्हें नजदीकी आंगनबाड़ी या स्वास्थ्य केंद्र जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए। क्योंकि इस योजना का संचालन स्वास्थ्य विभाग द्वारा ही संचालित की जाती है। इस योजना का लाभ लेने के लिए आशा वर्कर या एएनएम से जरूर संपर्क करें। 

  • इस योजना में आवेदन के लिए 3 फार्म भरे जाते हैं। सभी किस्तों के लिए अलग-अलग तीन फॉर्म (पहला फॉर्म ,दूसरा फॉर्म ,तीसरा फॉर्म) भरने होते है। 

  • सभी तीनों फार्म आंगनवाड़ी या निकट स्वास्थ्य केंद्र में जाकर नियमित समय समय पर दूसरा फॉर्म, तीसरा फॉर्म  भरकर आंगनबाड़ी, आशा या एएनएम के पास जमा कर दें।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY) के लिए पात्रता

  • गर्भावस्था सहायता योजना (PMMVY) में आवेदन करने वाली गर्भवती महिलाओं की आयु 19 वर्ष से काम नहीं होनी चाहिए।

  • इस योजना के अंतर्गत उन्हीं महिलाओं को पात्र  माना जायेगा जो 1 जनवरी 2017 के बाद गर्भवती हुई हैं।

  • इस योजना का लाभ केवल पहली गर्भधारण के लिए दी जाती है। दूसरी बार गर्भधारण करने पर केवल जननी सुरक्षा योजना का लाभ मिलता है।

  • सरकारी कर्मचारी महिलाओं को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ नहीं मिलता है।

  • इस योजना का लाभ पाने के लिए महिला को गर्भधारण के 730 दिनों के अंदर ही पंजीकरण कराना होता है। इसके बाद इस पात्र होने पर भी लाभ नहीं दिया जाता है।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY) के लिए जरूरी कागजात

  • स्वास्थ्य पंजीकरण की पंजिका

  • पूर्ण रूप से भरे हुए आवेदन पत्र

  • आधार कार्ड

  • राशन कार्ड

  • पासपोर्ट साइज फोटो

  • बैंक पासबुक

  • मोबाइल नंबर

(PMMVY) योजना में धनराशि की भुगतान की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri vandana yojana) के अंतर्गत उन सभी महिलाओं को इस योजना का लाभ देना अनिवार्य है। योजना का फार्म भरने और पंजीकरण होने के अधिकतम 30 दिनों के अंदर लाभार्थी के बैंक खाते में धनराशि ट्रांसफर कर दी जाती है।


ये तो थी, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri vandana yojana in hindi) की बात। लेकिन, The Rural India पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, सरकारी योजना और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

अगर आपको यह ब्लॉग अच्छा लगा हो, तो इसे मित्रों तक जरूर पहुंचाए। जिससे महिलाएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (pradhan mantri vandana yojana) का लाभ उठा सकें।


ये भी पढ़ें-

Axact

Contribute to The Rural India (Click Now)

हम बड़े मीडिया हाउस की तरह वित्त पोषित नहीं है। ऐसे में हमें आर्थिक सहायता की ज़रूरत है। आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए यहां क्लिक कर सहयोग करें।🙏

Post A Comment:

0 comments: