कड़कनाथ पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? | Kadaknath murgi palan in hindi |

kadaknath poultry farming business in hindi: औषधीय गुणों और अधिक कमाई के कारण इनदिनों कड़कनाथ पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस खूब ट्रेंडिंग में है। कड़कनाथ मुर्गी पालन (Kadaknath murgi palan) काफी फायदे का बिजनेस है। कड़कनाथ प्रजाति का मुर्गी पालते हैं तो आपको अच्छा मुनाफा हो सकता है। 


आपको बता दें, मुर्गी पालन में भी कई प्रजातियों की मुर्गियों का पालन किया जाता है। उसमें कड़कनाथ मुर्गी सबसे उच्च प्रजाति का मुर्गा माना जाता है। अन्य मुर्गियों की तुलना में कड़कनाथ मुर्गी के मांस की मांग सबसे अधिक है। यह सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद  होता है। 


तो आइए, द रूरल इंडिया के इस लेख में जानें- कड़कनाथ पोल्ट्री फार्मिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? (Kadaknath murgi palan in hindi)


इस ब्लॉग में आप जानेंगे-

  • कड़कनाथ मुर्गे की उत्पति और इतिहास

  • कड़कनाथ मुर्गा पालन की शुरुआत कैसे करें

  • कड़कनाथ मुर्गी के लिए फार्म कैसे तैयार करें

  • कड़कनाथ मुर्गा पालन की विशेषता

  • सरकार से मिलने वाली मदद

  • कड़कनाथ मुर्गी पालन में लागत

  • कड़कनाथ मुर्गी पालन में मुनाफा


कड़कनाथ मुर्गे की उत्पति और इतिहास

मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के कड़कनाथ मुर्गी को जीआई टैग प्राप्त है। जी आई टैग के जिक्र से ही आपको समझ आ गया होगा कि यह मुर्गा अन्य मुर्गो से अलग है। कड़कनाथ मुर्गे को विशेष पहचान मिली हुई है। आपको बता दें, कड़कनाथ मुर्गे उत्पत्ति मध्य प्रदेश मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले की कठीवाड़ा और अलीराजपुर से हुई हैं।


कड़कनाथ मुर्गे का पालन कैसे करें (how to kadaknath poultry farming business in hindi)

कड़कनाथ मुर्गी का पालन करने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस प्रजाति के मुर्गे बहुत ही आसानी से हरे चारे, बाजरा और चरी खाकर भी काफी तेजी से बढ़ते हैं। कड़कनाथ मुर्गी का पालन करने के लिए  आप किसी प्रगतिशील किसान या जिले में स्थित कृषि विज्ञान केंद्र से चूजे भी खरीद सकते हैं। कड़कनाथ मुर्गी पालन की शुरुआत आप चाहे तो 20 या 30 चूजे से भी कर सकते हैं। अगर आप इस बिजनेस में नए है तो किसी पुराने पोल्ट्री वाले से या कृषि विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र से पहले प्रशिक्षण लें। उसके बाद इससे होने वाले मुनाफे से आप चूजे की संख्या बढ़ा सकते हैं।


कड़कनाथ मुर्गे के लिए फार्म कैसे तैयार करें

कड़कनाथ मुर्गी पालन के लिए फार्म ऐसी जगह पर बनाए। जहां पर रोशनी और चरने दोनों की उपयुक्त व्यवस्था हो। फार्म तैयार करने से पहले आप किसी कृषि विज्ञान केंद्र से उपयुक्त प्रशिक्षण ले लें। फार्म थोड़ी ऊंचाई पर बनाए ताकि बारिश का पानी या गंदे पानी का जलजमाव ना हो।


कड़कनाथ मुर्गा पालन की विशेषता (specialty of kadaknath)

  • अन्य मुर्गों की तुलना में कड़कनाथ मुर्गा रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है।

  • स्वाद और औषधि गुण के कारण बाजार में इसकी डिमांड होती है।

  • रखरखाव के लिए भी अधिक मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

  • उनके लिए स्पेशल फीड की जरूरत नहीं पड़ती है। यह हरा चारा खा कर आसानी से बढ़ते हैं।

  • कड़कनाथ मुर्गे का मीट ह्रदय रोग कैंसर रोगियों के लिए फायदेमंद होता है।


सरकार से मिलने वाली मदद (kadaknath murgi palan yojana) 

अगर आपके पास पूंजी की कमी है और आप कड़कनाथ मुर्गी पालना चाहते हैं तो इसके लिए ‘कड़कनाथ मुर्गी पालन योजना’ (kadaknath murgi palan scheme) का मदद ले सकते हैं। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार कड़कनाथ नस्ल के मुर्गा संरक्षण के लिए इस योजना की शुरुआत की है। प्रदेश सरकार कड़कनाथ के 40 चूजों के पालन के लिए 4400 रूपए का अनुदान देती है। इस योजना से जुड़ने  के लिए आप संबंधित जिले के पशु चिकित्सा अधिकारी या कृषि विज्ञान केंद्र से संपर्क कर सकते हैं।


इसके अलावा सभी राज्यों में नेशनल लाईव स्टॉक मिशन और नाबार्ड के पोल्ट्री वेंचर कैपिटल फंड (PVCF) के तहत आप लोन और सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं।  इसमें सामान्य वर्ग को 25 प्रतिशत तक की सब्सिडी मिलती है। बीपीएल और SC/ST और उत्तर-पूर्वी राज्यों के लोगों के लिए करीब 33 प्रतिशत तक की सब्सिडी का का लाभ मिलता है।


कड़कनाथ मुर्गा पालन में लागत

कड़कनाथ मुर्गा (Kadaknath murga) पालन करना वैसे तो बेहद आसान है। लेकिन इसकी शुरुआत करने के लिए देसी और बॉयलर मुर्गे से थोड़ा अधिक लागत लगाना पड़ेगा।

आप चाहे तो अपनी लागत के अनुसार चूजे लाकर इस बिजनेस की शुरुआत कर सकते हैं। इसके बाद अपने मुनाफे के हिसाब से आप चूजे की संख्या बढ़ाकर अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको शुरुआत में लगभग 50 हजार रुपए तक खर्च करना होगा। 


कड़कनाथ मुर्गा पालन में मुनाफा

कड़कनाथ मुर्गे का पालन बहुत ही फायदे का सौदा होता है। क्योंकि या अन्य मुर्गों की तुलना में कड़कनाथ काफी महंगे बिकते हैं। उनके 1 चूजे का दाम लगभग 80 से 100 रुपए होता है। इस प्रजाति के मुर्गी के अंडे 20 से 30 रुपए के बिकते हैं। जो आप इतने से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि कड़कनाथ मुर्गे का पालन कितना फायदेमंद हो सकता है। अगर आप पूरी मेहनत और लगन से इस बिजनेस को चलाते हैं तो आप महीनों में 50 हजार रुपए से लेकर एक लाख तक का मुनाफा आराम से कमा सकते हैं।


ये तो थी, कड़कनाथ मुर्गे का पालन कैसे करें (how to kadaknath poultry farming business in hindi) की जानकारी। यदि आप इसी तरह कृषि, मशीनीकरण, सरकारी योजना, बिजनेस आइडिया और ग्रामीण विकास की जानकारी चाहते हैं तो अन्य लेख जरूर पढ़ें और दूसरों को भी पढ़ने के लिए शेयर करें।


ये भी पढ़ें- 

Axact

Contribute to The Rural India (Click Now)

हम बड़े मीडिया हाउस की तरह वित्त पोषित नहीं है। ऐसे में हमें आर्थिक सहायता की ज़रूरत है। आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए यहां क्लिक कर सहयोग करें।🙏

Post A Comment:

0 comments: