पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे करें? | How to start a poultry farm business in hindi | मुर्गी पालन व्यवसाय, पोल्ट्री फार्म
पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे करें? | How to start a poultry farm business in hindi |

Poultry Farming business in hindi: अंडा खाना हमेशा ही हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना गया है। आप सभी ने कभी न कभी सुना ही होगा संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे। डॉक्टर और जिम ट्रेनर्स  हमेशा अंडे खाने की सलाह देते हैं, तो अंडे से जुड़ा हुआ बिजनेस क्यों नहीं लाभदायक हो सकता है। अगर आप भी कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो पोल्ट्री फार्म (Poultry Farm) खोलने के बारे में जरूर सोच सकते हैं।


आपको बता दें कि अंडा उत्पादन में भारत तीसरे स्थान पर आता है। पोल्ट्री फार्म बिजनेस (Poultry Farming business) से आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।


तो आइए, द रूरल इंडिया के इस ब्लॉग में जानें- पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे करें? (How to start a poultry farm business in hindi)


इस ब्लॉग में आप जानेंगे-

  • पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे शुरू करें

  • मुर्गी की उन्नत प्रजातियां

  • मुर्गी फॉर्म के बिजनेस में स्कोप

  • मुर्गी फार्म के लिए जगह का चुनाव

  • पोल्ट्री फार्म के लिए पंजीकरण

  • मार्केटिंग कैसे करें

  • मुर्गी फार्म बिजनेस में निवेश

  • पोल्ट्री फार्म बिजनेस में मुनाफा

  • पोल्ट्री फार्म बिजनेस में सरकारी मदद

  • मुर्गी फार्म बिजनेस में ध्यान रखने वाली बातें


पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे शुरू करें (How to start Poultry Farming)

अगर आप इस बिजनेस में नए हैं तो बिना ट्रेनिंग, बिजनेस करने का रिस्क ना लें। आपको पहले किसी पुराने पोल्ट्री फार्म बिजनेस वाले से मिलना चाहिए। यह जानकारी लेनी चाहिए कि किस प्रजाति की मुर्गी रखें। इसमें कितनी लागत आ सकती है। क्या व्यवस्था करें और किस तरह से बिजनेस की शुरुआत करें? जिससे ज्यादा मुनाफा हो। अच्छी तरह से जानकारी लेने के बाद ही इस बिजनेस की शुरुआत करने की सोचें। 


मुर्गियों की उन्नत नस्लें (improved breeds of chickens)

  • वनराजा

  • ग्रामप्रिया

  • कृष्णा

  • कड़कनाथ 


पोल्ट्री फार्म के बिजनेस में स्कोप (Scope in poultry farm)

आजकल भारत में भी मांसाहारी लोगों की संख्या बढ़ गई है। अंडा के हर कोई खाना पसंद करता है तो अगर आप मुर्गी फार्म खोल लेते हैं तो आपके लिए बिजनेस कई रास्ते खुल जाते हैं। आप चाहे तो मुर्गी के मांस बेच कर पैसे कमा सकते हैं या फिर अंडे बेचकर। इसके अलावा अंडों के थोक विक्रेता भी बन सकते हैं और फुटकर व्यापारियों को अंडे बेच सकते हैं।


मुर्गी फार्म के लिए जगह का चुनाव (Choose location for poultry farm)

हर बिजनेस की तरह इस बिजनेस में भी आपको जगह का चुनाव सबसे पहले करना चाहिए। मुर्गियों के रहने की उचित व्यवस्था और उनके चरने की उचित व्यवस्था हो। आप यह बिजनेस गांव में भी कर सकते हैं। अगर आप यह बिजनेस गांव में कर रहे हैं तो आपके पास जमीन अगर उपलब्ध है तो बहुत अच्छी बात है नहीं तो आप जमीन खुली जमीन किराए पर लेकर या काम शुरू कर सकते हैं। गांव में मुर्गियों के चरने की सुविधा अच्छी होती है। इसके लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ेगी सिर्फ आपको मुर्गियों के लिए दाने लाने होंगे और समय-समय पर पानी का ध्यान देना होगा।


अगर आप शहर में यह बिजनेस कर रहे है तो आपको फार्म के लिए जमीन किराये पर लेना पड़ेगा। इसके अलावा आपको उस जगह पर पानी और बिजली की उचित व्यवस्था का भी ध्यान रखना होगा।


पोल्ट्री फार्म के लिए पंजीकरण (Registration for poultry farm)

  •  सबसे पहले अपने पोल्ट्री फार्म को एमएसएमई के जरिये पंजीकृत करें। 

  • ऑनलाइन पंजिकरण के लिए वेबसाईट udyogaadhar.gov.in पर विजिट करें।

  • इस वेबसाइट पर जाने के बाद आपको वहाँ पर उद्यमी को आधार संख्या और उसका नाम डालना होगा। उसके बाद ‘वैलिडेट आधार’ वाले विकल्प पर क्लिक करें।

  • इस पर क्लिक करते ही आपका आधार वैलिडेट हो जाएगा। 

  • आधार वैलिडेट होने के बाद कंपनी का नाम, कम्पनी का प्रक्रार, व्यवसाय का पता, राज्य, जिला, पिन संख्या, मोबाइल संख्या, व्यवसाय शुरू होने की तारीख, बैंक डिटेल, कम्पनी में काम करने वाले लोगों की संख्या, इन्वेस्टमेंट की राशि आदि डाल के कैप्त्चा डालें।

  • इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें।

  • फॉर्म सबमिट करने के बाद एमएसएमई की तरफ से सर्टिफिकेट जेनरेट हो जाता है।

  • इसके बाद आपके ईमेल में भी सर्टिफिकेट आ जाता है।

  • आप इस ईमेल से इसका प्रिंट निकालकर अपने ऑफिस में लगा सकते हैं।


मुर्गी पालन के लिए मार्केटिंग रिसर्च कैसे करें (Research for marketing)

किसी भी बिजनेस को करने के लिए आपको सबसे पहले ग्राहकों के ऊपर एक रिसर्च कर लेनी चाहिए। इसके साथ ही आपको अपने आसपास ऐसे मार्केट का पता करना चाहिए। जहां पर अंडे और मीट की मांग अधिक हो। जिससे आपकी मार्केटिंग में बढ़ोतरी होगी और आपको अच्छा मुनाफा भी होगा।


मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए निवेश (Investment in poultry farm)

पोल्ट्री फार्म के बिजनेस में निवेश यानी लागत आपके ऊपर निर्भर करता है। अगर आप सभी से छोटे पैमाने पर कर रहे हैं तो कम लागत में भी इस व्यवसाय को कर सकते हैं। इसके लिए आपको मुर्गी खरीदने और मुर्गियों के रहने की व्यवस्था और चारे में ही लागत लगानी पड़ेगी। छोटे स्तर पर भी आपको लगभग एक लाख तक लागत लगानी पड़ सकती है। अगर आप यह बिजनेस बड़े पैमाने पर कर रहे हैं तो आपको अपने मुताबिक पैसे इकट्ठा कर लेनी चाहिए। इसके अलावा आपको बिजली, कर्मचारी, ट्रांसपोर्ट का इंतजाम भी करना होगा।


पोल्ट्री फार्म बिजनेस में मुनाफा (Profit in poultry farm business)

आप अंडे और मांसाहारी चीजों का इस्तेमाल देखकर अंदाजा लगा सकते हैं कि इस बिजनेस में कितना मुनाफा होने वाला है। क्योंकि यह कोई समझाने वाली बात नहीं है। अगर आप अच्छे नस्ल की मुर्गियां रखते हैं तो आप महीनों में लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं। अगर आपको अधिक संख्या में अंडे प्राप्त होते हैं तो आप अंडे के होलसेलर बन कर भी मुनाफा कमा सकते हैं। इसके अलावा आप अंडे और मांस से बनी चीजों को बेच कर भी पैसे कमा सकते हैं। जैसे- आमलेट, एग रोल, चिकन चिली आदि


मुर्गी पालन के लिए सरकारी मदद (Govt scheme for poultry farm business)

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए भारत सरकार भी आपकी मदद करती है। इस बिज़नेस की लागत 1 लाख से ऊपर होगी तो सरकार इस पर सब्सिडी प्रदान करती है। जनरल कैटेगरी वालों को 25% प्रतिशत की सब्सिडी और यदि आप एसटी/ एससी कैटेगरी के हों, तो 35% प्रतिशत की सब्सिडी देती हैं। ये सब्सिडी NABARD और एमएएमसई द्वारा दी जाती है। 


इसके अलावा आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत लोन लेकर भी अपने बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।


पोल्ट्री फार्म बिजनेस में ध्यान रखने वाली बातें (Important things to remember in poultry business)

  • इस बिजनेस में मुनाफा तो है लेकिन ये बिज़नेस ज्यादा गंदगी भी फैलता है। जिससे बीमारियां उत्पन होती है।

  • आप इसे किसी खेत या किसी बाहरी जगह पर इसको शुरू करें। 

  • समय पर बीमारियों से बचने के लिए दवाइयों का छिड़काव करवाते रहे। 

  • मुर्गियों के रहने की उचित व्यवस्था रखें उनके दरबे में हवा का आना-जाना बना रहे या ध्यान रखें।

  • अगर मुर्गा मर जाए तो ले ज्यादा देर तक नहीं रखें।

  • खराब मीट या अंडे लोगों को नहीं बेचे।

  • अपने ग्राहकों से व्यवहार अच्छे रखें।


ये तो थी, पोल्ट्री फार्म का बिजनेस कैसे करें? (How to start a poultry farm business in hindi) की जानकारी। यदि आप इसी तरह कृषि, मशीनीकरण, सरकारी योजना, बिजनेस आइडिया और ग्रामीण विकास की जानकारी चाहते हैं तो अन्य लेख जरूर पढ़ें और दूसरों को भी पढ़ने के लिए शेयर करें।

 

ये भी पढ़ें-


Axact

Contribute to The Rural India (Click Now)

हम बड़े मीडिया हाउस की तरह वित्त पोषित नहीं है। ऐसे में हमें आर्थिक सहायता की ज़रूरत है। आप हमारी रिपोर्टिंग और लेखन के लिए यहां क्लिक कर सहयोग करें।🙏

Post A Comment:

0 comments: